Shiv Bhajan Lyrics: श्री शिव जी के 30 सबसे लोकप्रिय भजन

श्री शिव जी परम दयालु हैं। वह अपने भक्तों पर अतिशीघ्र प्रसन्न हो जाते हैं। श्री शिव जी अपने ऐसे ही सरलता के कारण जनमानस में सबके प्रिय देवता हैं। आज यहां पर हम श्री शिव जी के सबसे लोकप्रिय भजनों का लिरिक्स जानेंगे।

1. श्री शिव भजन लिरिक्स – सुबह सुबह ले शिव का नाम, शिव आयेंगे तेरे काम

( सुबह सुबह ले शिव का नाम – विडियो )

सुबह सुबह ले शिव का नाम, कर ले बन्दे ये शुभ काम

सुबह सुबह ले शिव का नाम, कर ले बन्दे ये शुभ काम

सुबह सुबह ले शिव का नाम, शिव आयेंगे तेरे काम

सुबह सुबह ले शिव का नाम, कर ले बन्दे ये शुभ काम

ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय ।।

खुद को राख लपेटे फिरते, औरों को देते धन धाम

खुद को राख लपेटे फिरते, औरों को देते धन धाम

देवो के हित विष पी डाला, नील कंठ को कोटि प्रणाम, नील कंठ को कोटि प्रणाम

सुबह सुबह ले शिव का नाम, शिव आयेंगे तेरे काम

सुबह सुबह ले शिव का नाम, कर ले बन्दे ये शुभ काम

ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय ।।

शिव के चरणों में मिलते हैं सारी तीरथ चारो धाम

शिव के चरणों में मिलते हैं सारी तीरथ चारो धाम

करनी का सुख तेरे हाथों, शिव के हाथों में परिणाम, शिव के हाथों में परिणाम

सुबह सुबह ले शिव का नाम, शिव आयेंगे तेरे काम ॥

सुबह सुबह ले शिव का नाम, कर ले बन्दे ये शुभ काम

ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय ।।

शिव के रहते कैसी चिंता, साथ रहे प्रभु आठों याम

शिव के रहते कैसी चिंता, साथ रहे प्रभु आठों याम

शिव को भजले सुख पायेगा, मन को आएगा आराम, मन को आएगा आराम

सुबह सुबह ले शिव का नाम, शिव आयेंगे तेरे काम ॥

सुबह सुबह ले शिव का नाम, कर ले बन्दे ये शुभ काम

ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय ।।

नोट – सुबह सुबह ले शिव का नाम इस भजन का MP3 Song व रिंगटोन डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक कीजिए 

2. श्री शिव भजन लिरिक्स – चलो भोले बाबा के द्वारे

चलो भोले बाबा के द्वारे,

सब दुःख कटेंगे तुम्हारे

चलो भोले बाबा के द्वारे,

सब दुःख कटेंगे तुम्हारे

भोले बाबा, भोले बाबा

भोले बाबा, भोले बाबा

भोले बाबा, भोले बाबा

चलो भोले बाबा के द्वारे

सब दुःख कटेंगे तुम्हारे

चलो भोले बाबा के द्वारे

सब दुःख कटेंगे तुम्हारे

चढ़ा एक शिकारी

देखो बेल वृक्ष पर

करने को वो शिकार

शिव चौदस की

पावन वह रात थी

अनजाने में हुआ,

प्रहर पूजा संस्कार

हुए बाबा प्रकट,

बोले मांगो वरदान

बोले मांगो वरदान

दर्शन कर शिकारी को,

हो आया वैराग्य ज्ञान

हो आया वैराग्य ज्ञान

करबद्ध कर वो बोला

हरी ओम, हरी ओम

हरी ओम, हरी ओम

हरी ओम, हरी ओम

हरी ओम, हरी ओम

करबद्ध कर वह बोला

दो मुझे भक्ति वरदान

दो मुझे भक्ति वरदान

बने बाबा उसके सहारे,

सब दुःख कटेंगे तुम्हारे

चलो भोले बाबा के द्वारे

सब दुःख काटेंगे तुम्हारे

चलो भोले बाबा के द्वारे

सब दुःख काटेंगे तुम्हारे

भोले बाबा, भोले बाबा

भोले बाबा, भोले बाबा

भोले बाबा, भोले बाबा

चलो भोले बाबा के द्वारे

सब दुःख कटेंगे तुम्हारे

चलो भोले बाबा के द्वारे

सब दुःख कटेंगे तुम्हारे

 

भगवान श्री कृष्ण, शिव जी व हनुमान जी पर आधारित वस्तुएं डिस्काउंट के साथ कम रेट पर खरीदने के लिए नीचे क्लिक करें :-

1. श्री कृष्ण जी की मुर्ति 

2. श्री कृष्ण जी की सुंदर छोटी मुर्ति

3. श्री कृष्ण जी की बड़ी मुर्ति 

4. भगवान श्री कृष्ण जी की लाकेट 

5. श्री राधा कृष्ण के मनमोहक लाकेट 

6. श्री राधा कृष्ण जी के श्रृंगार सेट

7. अन्य सभी प्रकार के धार्मिक वस्तुएं

8. धार्मिक म्यूजिक बाक्स

9. धार्मिक गिफ्ट आइटम्स 

@@@

10. भगवान श्री शिव जी की मनभावन मुर्तियां 

11. श्री शिव महापुराण 

12. ॐ नमः शिवाय मंत्र म्यूजिक बाक्स 

13. श्री शिव जी की लाकेट पुरुषों के लिए

14. श्री शिव जी की लाकेट महिलाओं के लिए

@@@

15. Hanuman Idol

16. श्री हनुमान जी की मुर्ति 

17. श्री हनुमान जी की लाकेट

@@@

18. Amazon Today’s Best Offer 

3. श्री शिव भजन लिरिक्स – शिव शंकर को जिसने पूजा

शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ।

अंत काल को भवसागर में उसका बेडा पार हुआ॥

भोले शंकर की पूजा करो,

ध्यान चरणों में इसके धरो।

हर हर महादेव शिव शम्भू।

हर हर महादेव शिव शम्भू॥

नाम ऊँचा है सबसे महादेव का,

वंदना इसकी करते है सब देवता।

इसकी पूजा से वरदान पातें हैं सब,

शक्ति का दान पातें हैं सब।

नाथ असुर प्राणी सब पर ही भोले का उपकार हुआ।

अंत काल को भवसागर में उसका बेडा पार हुआ॥

 

श्री शिव भजन लिस्ट – नीचे क्लिक करें 

1. आ लौट के आजा भोलेनाथ 

2. मन मेरा मंदिर शिव मेरी पूजा

3. ऐसा डमरू बजाया भोलेनाथ ने लिरिक्स

4. जय शिव ओंकारा

5. मैं तो शिव की पुजारन बनूँगी

6. कभी शिवजी के मंदिर गया ही नहीं

7. मिलता है सच्चा सुख केवल शिवजी तुम्हारे चरणों में

8. हे शंभू बाबा मेरे भोलेनाथ: लिरिक्स, रिंगटोन, वीडियो

9. ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम 

10. आओ महिमा गाए भोले नाथ की

11. शंकर मेरा प्यारा – श्री शिव जी का सबसे प्यारा भजन 

12. हे भोले शंकर पधारो 

13. चलो शिवशंकर के मंदिर में भक्तों 

14. मेरा भोला है भंडारी करे नंदी की सवारी 

15. सुबह सुबह ले शिव का नाम 

16. ज्योर्तिर्लिंग का ध्यान करो शिवशंकर का गुणगान करो 

17. चलो भोले बाबा के द्वारे

18. शंभू रे ओ शंभू रे तेरा भेद ना जाना

19. शिव मंदिर में दीप जला के कर लो मन उजियारा 

20. फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना

21. सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ आये हैं 

4. श्री शिव भजन लिरिक्स – मन मेरा मंदिर शिव मेरी पूजा

ओम नमः शिवाय ओम नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय ओम नमः शिवाय

सत्य है ईश्वर शिव है जीवन

सुन्दर ये संसार है तीनों लोक है

तुझमे तेरी माया अपरम्पार है

ओम नमः शिवाय नमो

ओम नमः शिवाय नमो

मन मेरा मंदिर शिव मेरी पूजा

शिव से बड़ा नहीं कोई दूजा

बोल सत्यम शिवम बोल तू सुन्दरम

मन मेरे शिव की महिमा के गुण गाये जा

पार्वती जब सीता बन कर

जय श्री राम के सम्मुख आई

राम ने उनको माता कहकर

शिव शंकर की महिमा गायी

शिव भक्ति में सब कुछ सूझा

शिव से बड़ा नहीं कोई दूजा

बोल सत्यम शिवम बोल तू सुन्दरम

मन मेरे शिव की महिमा के गुण गाये जा

तेरी जटा से निकली गंगा

और गंगा ने भीष्म दिया है

तेरे भक्तों की शक्ति ने

सारे जगत को जीत लिया है

तुझको सब देवोँ ने पूजा

शिव से बड़ा नहीं कोई दूजा

बोल सत्यम शिवम बोल तू सुन्दरम

मन मेरे शिव की महिमा के गुण गाये जा

मन मेरे मंदिर शिव मेरी पूजा

शिव से बड़ा नहीं कोई दूजा

बोल सत्यम शिवम बोल तू सुन्दरम

मन मेरे शिव की महिमा के गुण गाये जा

ओम नमः शिवाय नमो

ओम नमः शिवाय नमो ….

 

Also Read

1. Top 10 Ganesh Bhajan Lyrics : श्री गणेश जी के 10 सबसे लोकप्रिय भजनों का लिरिक्स 

2. श्री लक्ष्मी माता के 15 सबसे लोकप्रिय भजन 

 

5. श्री शिव भजन लिरिक्स – ऐसी सुबह ना आए, आए न ऐसी शाम

शिव है शक्ति, शिव है भक्ति,

शिव ही मुक्ति धाम ।

शिव है ब्रह्मा, शिव है विष्णु,

शिव ही है मेरे राम ।।

ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम ।

ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम ।।

जिस दिन, जुबाँ पे मेरी.. जिस दिन, जुबाँ पे मेरी, आए ना शिव का नाम

ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम ।।

ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय

मन मंदिर में, वास है तेरा, तेरी छवि बसाई,

प्यासी आत्मा, बनके योगी, तेरी शरण में आया

तेरे ही, चरणों में पाया, मैंने यह विश्राम

ऐसी सुबह ना आए ….

ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय ….

सर्व कला, संम्पन तुम्ही हो, हे मेरे परमेश्वर,

दर्शन देकर, धन्य करो अब, हे त्रिनेत्र महेश्वर

भव सागर से, तर जाऊँगा, लेकर तेरा नाम…

ऐसी सुबह ना आए ….

ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय ..

तेरी खोज में, ना जाने, कितने युग मेरे बीते,

अंत में काम, क्रोध मद हारे, हे भोले तुम जीते

मुक्त किया, तूने प्रभु मुझको, शत शत है प्रणाम

ऐसी सुबह ना आए ….

ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय ..

6. श्री शिव भजन लिरिक्स – मेरा भोला है भंडारी

मेरा भोला है भंडारी,

करे नंदी कि सवारी।

मेरा भोला है भण्डारी,

करे नंदी कि सवारी।

सबना दा रखवाला ओ शिवजी,

डमरुंवा वाला जी, डमरुंवा वाला जी

ऊपर कैलाश रहन्दा भोले नाथ जी,

धर्मियो जो तार दे शिवजी,

पपियाँ जो मारदा जी,

पापिया जो मारदा,

बड़ा ही दयाल मेरा भोले अमली,

ॐ नमः शिवाय शम्भो,

ओम नमः शिवाय,

महादेवा तेरा डमरू डम डम,

डम डम बजतो जाए रे,

हो महादेवा महादेवा,

ॐ नमः शिवाय शंभू,

ओम नमः शिवाय।

सर से तेरे बहती गंगा,

काम मेरा हो जाता चंगा,

नाम तेरा जब लेता, ता, ता,

महादेवा……,

मां पैया दे घरे ओ गोरा,

महला च रेहंदी,

जी महला च रेहंदी,

विच समसाना रहंदा भोलेनाथ जी,

कालेया कुंडला वाला,

मेरा भोले बाबा,

किदर कैलाशा तेरा डेरा ओ जी,

सर पे तेरे ओ गंगा मैया बिराजे,

मुकुट पे चंदा मामा ओ जी,

ॐ नमः शिवाय,

ॐ नमः शिवाय शंभू,

ओम नमः शिवाय।

भंग जै पिन्दा ओ शिवजी,

धूनी रमांदा जी धुनी रमांदा,

बड़ा ही तपारी,

मेरा भोले अमली,

मेरा भोला है भंडारी,

करता नंदी कि सवारी,

भोले नाथ रै,

ओ शंकर नाथ रै,

मेरा भोला है भण्डारी,

करे नंदी कि सवारी,

शम्भुनाथ रे शंकर नाथ रे,

गौरा भांग रगड़ के बोली,

तेरे साथ है भूतों की टोली,

मेरे नाथ रे शम्भु नाथ रै,

ओ भोले बाबा जी,

दर तेरे मैं आया जी,

झोली खाली लाया जी,

खाली झोली भर दो जी,

कालेया सरपां वाला,

मेरा भोले बाबा,

शिखरे कैलाशा विच

रहंदा ओ जी।

मेरा भोला है भंडारी,

करे नंदी कि सवारी।

मेरा भोला है भण्डारी,

करे नंदी कि सवारी।

सबना दा रखवाला ओ शिवजी,

डमरुंवा वाला जी, डमरुंवा वाला जी

ऊपर कैलाश रहन्दा भोले नाथ जी,

धर्मियो जो तार दे शिवजी,

पपियाँ जो मारदा जी,

पापिया जो मारदा,

बड़ा ही दयाल मेरा भोले अमली,

ॐ नमः शिवाय शम्भो,

ओम नमः शिवाय,

महादेवा तेरा डमरू डम डम,

डम डम बजतो जाए रे,

हो महादेवा महादेवा,

ॐ नमः शिवाय शंभू,

ओम नमः शिवाय।

7. श्री शिव भजन लिरिक्स – आओ महिमा गाए भोले नाथ की

आओ महिमा गाए भोले नाथ की

भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

आओ महिमा गाए भोले नाथ की

भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

भोले नाथ की जय, शम्भू नाथ की जय

गौरी नाथ की जय, दीना नाथ की जय

आओ महिमा गाए भोले नाथ की

भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

मुख पर तेज है, अंग भभूती

गले सर्प की माला।

माथे चन्द्रमा, जटा में गंगा

शिव का रूप निराला॥

अन्तर्यामी, सबका स्वामी

भक्तो का रखवाला।

तीन लोको में बाट रहा है

ये दिन रात उजाला॥

जय बोलो, जय बोलो भोले नाथ की

भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

भोले नाथ की जय, शम्भू नाथ की जय

गौरी नाथ की जय, दीना नाथ की जय

आओ महिमा गाए भोले नाथ की

भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

हरी ओम नमः शिवाय नमो

हरी ओम नमः शिवाय नमो

हरी ओम नमः शिवाय नमो

हरी ओम नमः शिवाय नमो

पी के भंग तरंग में जब जब

भोला शंकर आए।

हाथ में अपने डमरू ले कर

नाचे और नचाये॥

जो भी श्रध्दा और भक्ति की

मन में ज्योत जगाये।

मेरा भोला शंकर उस पर

अपना प्यार लुटाये॥

जय बोलो, जय बोलो भोले नाथ की

भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

भोले नाथ की जय, शम्भू नाथ की जय

गौरी नाथ की जय, दीना नाथ की जय

आओ महिमा गाए भोले नाथ की

भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

भव पार लगते शिव भोले

बिगड़ी बनाते ये शिव भोले।

कष्ट निवारे ये शिव भोले

दुःख दूर करे ये शिव भोले॥

जय बोलो दीनानाथ की

जय बोलो गौरीनाथ की

जय बोलो बद्रीनाथ की

जय बोलो शम्भूनाथ की

है सबसे न्यारे शिव भोले।

है डमरू धरी शिव भोले।

भोले भंडारी शिव भोले।

जय बोलो दीनानाथ की

जय बोलो गौरीनाथ की

जय बोलो बद्रीनाथ की

जय बोलो शम्भूनाथ की

भव पार लगते शिव भोले

बिगड़ी बनाते शिव भोले।

कष्ट निवारे शिव भोले

दुःख दूर करे ये शिव भोले।

आओ महिमा गाए भोले नाथ की

भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

8. श्री शिव जी की आरती – ॐ जय शिव ओंकारा

जय शिव ओंकारा

जय शिव ओंकारा, ॐ जय शिव ओंकारा ।

ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

एकानन चतुरानन पंचानन राजे ।

हंसासन गरूड़ासन वृषवाहन साजे ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

दो भुज चार चतुर्भुज दसभुज अति सोहे ।

त्रिगुण रूप निरखते त्रिभुवन जन मोहे ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

अक्षमाला वनमाला मुण्डमाला धारी ।

त्रिपुरारी कंसारी कर माला धारी ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

श्वेतांबर पीतांबर बाघंबर अंगे ।

सनकादिक गरुणादिक भूतादिक संगे ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

कर के मध्य कमंडलु चक्र त्रिशूलधारी ।

सुखकारी दुखहारी जगपालन कारी ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

ब्रह्मा विष्णु सदाशिव जानत अविवेका ।

प्रणवाक्षर में शोभित ये तीनों एका ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

लक्ष्मी व सावित्री पार्वती संगा ।

पार्वती अर्द्धांगी, शिवलहरी गंगा ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

पर्वत सोहैं पार्वती, शंकर कैलासा ।

भांग धतूर का भोजन, भस्मी में वासा ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

जटा में गंग बहत है, गल मुण्डन माला ।

शेष नाग लिपटावत, ओढ़त मृगछाला ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

काशी में विराजे विश्वनाथ, नंदी ब्रह्मचारी ।

नित उठ दर्शन पावत, महिमा अति भारी ॥

ॐ जय शिव ओंकारा

त्रिगुणस्वामी जी की आरति जो कोइ नर गावे ।

कहत शिवानंद स्वामी सुख संपति पावे ॥

ॐ जय शिव ओंकारा.

9. शिव भजन लिरिक्स – शंकर मेरा प्यारा

शंकर मेरा प्यारा, शंकर मेरा प्यारा।

माँ री माँ मुझे मूरत ला दे, शिव शंकर की मूरत ला दे,

मूरत ऐसी जिस के सर से निकले गंगा धरा॥

माँ री माँ वो डमरू वाला, तन पे पहने मृग की छाला।

रात मेरे सपनो में आया, आ के मुझ को गले लगाया।

गले लगा कर मुझ से बोला, मैं हूँ तेरा रखवाला॥

॥ शंकर मेरा प्यारा, शंकर मेरा प्यारा…॥

माँ री माँ वो मेरा स्वामी, मैं उस के पट की अनुगामी।

वो मेरा है तारण हारा, उस से मेरा जग उजारा।

है प्रभु मेरा अन्तर्यामी, सब का है वो रखवाला॥

॥ शंकर मेरा प्यारा, शंकर मेरा प्यारा…॥

शंकर मेरा प्यारा, शंकर मेरा प्यारा।

माँ री माँ मुझे मूरत ला दे, शिव शंकर की मूरत ला दे,

मूरत ऐसी जिस के सर से निकले गंगा धरा॥

10. श्री शिव भजन लिरिक्स – हे भोले शंकर पधारो

( हे भोले शंकर पधारो – विडियो )

हे भोले शंकर पधारो बैठे छिप के कहाँ ।

गंगा जटा में तुम्हारी, हम प्यासे यहाँ ॥

महा सती के पति मेरी सुनो वंदना ।

आओ मुक्ति के दाता पड़ा संकट यहाँ ॥

बगीरथ को गंगा प्रभु तुमने दी थी,

सगर जी के पुत्रों को मुक्ति मिली थी ।

नील कंठ महादेव हमें है भरोसा है,

इच्छा तुम्हारी बिना कुछ भी नहीं होता ॥

हे भोले शम्भू पधारो किस ने रोके वहां,

आयो भसम रमयिया सब को तज के यहाँ ॥

मेरी तपस्या का फल चाहे लेलो,

गंगा जल अब अपने भक्तो को दे दो ।

प्राण पखेरू कहीं प्यासा उड़ जाए ना,

कोई तेरी करुना पे उंगली उठाए ना ॥

भिक्षा मैं मांगू जन कल्याण की,

इच्छा करो पूरी गंगा सनान की ॥

अब ना देर करो, आ के कष्ट हरो,

मेरी बात रख लो, मेरी लाज रख लो ॥

हे भोले गंगधार पधारो, डोरी टूट जाए ना,

मेरा जग में नहीं कोई तुम्हारे बिना ॥

नंदी की सौगंध तुमे, वास्ता कैलाश का,

बुझ ना देना दीया मेरे विशवास का ।

पूरी यदि आज ना हुई मनोकामना,

फिर दीनबंधू होगा तेरा नाम ना ।

भोले नाथ पधारो, तुमने तारा जहां,

आओ महा सन्यासी अब तो आ जाओ ना ॥

11. श्री शिव भजन लिरिक्स – चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तों

हर हर हर महादेव की जय हो

शंकर शिव कैलाशपति की जय हो

चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तों

चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तों

शिव जी के चरणों में सर को झुकाए

करें अपने तन मन को गंगा सा पावन

करें अपने तन मन को गंगा सा पावन

जपें नाम शिव का भजन इनके गाएं

(चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तों)

(हर हर महादेव की जय हो

हर हर महादेव की जय हो

हर हर महादेव की जय हो

हर हर महादेव की जय हो)

ये संसार है झूठी माया का बंधन

शिवालय में मारग है मुक्ति का भक्तों

(ॐ नमः शिवाय नमो)

महादेव का नाम लेने से हर दिन

मिलेगा हमें दान शक्ति का भक्तों

मिट्टी में मिट्टी की काया मिलेगी

मिट्टी में मिट्टी की काया मिलेगी

चलो आत्मा को तो कुंदन बनाएं

(चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तों)

कहीं भी नहीं अंत उस की दया का

करें वंदना उस दयालु पिता की

(ॐ नमः शिवाय नमो)

हमें भी मिले छावं उसकी कृपा की

हमें भी मिले भीख उसकी दया की

लगाकर समाधि करें शिव का सुमिरन

लगाकर समाधि करें शिव का सुमिरन

यूँ सोये हुए भाग्य अपने जगाएं

(चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तों)

करें सब का कल्याण, कल्याणकारी

भरे सबके भण्डार त्रिनेत्र धारी

(ॐ नमः शिवाय नमो)

कोई उसको जग में कमी ना रहेगी

बनेगा जो तनमन से शिव का पुजारी

करें नाम लेकर सफल अपना जीवन

करें नाम लेकर सफल अपना जीवन

ये अनमोल जीवन यूँही ना गवाए

चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तों

शिव जी के चरणों में सर को झुकाए

करें अपने तन मन को गंगा सा पावन

जपें नाम शिव का भजन इनके गाएं

(चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तों)

(हर हर हर महादेव की जय हो

शंकर शिव कैलाशपति की जय हो

हर हर हर महादेव की जय हो

12. श्री शिव भजन लिरिक्स – ज्योर्तिर्लिंग का ध्यान करो

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

शिव शंकर

का गुनगन करो

शिव भक्ति का

रसपान करो

जीवन ज्योतिर्मय

हो जाय ज्योतिर्लिंगो का

ध्यान करो

शिव शंकर

का गुनगान करो

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नमः

शिव शिव

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

उसने ही जगत बनया है

कान कान में वही समाने हैं

उसने ही जगत बनया है

कान कान में वही समाने हैं

दुक्ख सुख सुख हर लेगा

सर बराबर जब शिव का है

बोलो हर हर हर महादेव

हर मुशकिल को आसन करो

शिव शंकर का गुनगन करो

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय

शंकर से है अन्तर्यामी

भक्तो के लइया सखा से है

शंकर तोहि अन्तर्यामी

भक्तो के लइया सखा से है

भगवन् भवे के भुझे

भगवन् प्रेम के पीसे हैं

मन के मंदिर में इसीलिए

शिव मंदिर का निर्मण करो

शिव शंकर का गुनगन करो

ओम नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय नमः शिवाय

शिव शंकर का गुनगन करो

शिव भक्ति का रसपान करो

जीवन ज्योतिर्मय हो जाए

ज्योतिर्लिंगो का ध्यान करो

शिव शंकर का गुनगन करो

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नमः शिवाय नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय नमः शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नम शिवाय

ओम नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय

13. श्री शिव भजन लिरिक्स – हे शम्भू बाबा मेरे भोलेनाथ

हे शम्भू बाबा मेरे भोलेनाथ

तीनो लोक में तू ही तू

श्रद्धा सुमन मेरा मन बेलपत्री

जीवन भी अर्पण कर दूँ

हे शम्भू बाबा मेरे भोलेनाथ

जग का स्वामी है तू

अंतरयामी है तू

मेरे जीवन की अनमिट

कहानी है तू

तेरी शक्ति अपार

तेरा पावन है द्वार

तेरी पूजा ही मेरा जीवन आधार

धुल तेरे चरणों की ले कर

जीवन को साकार किया

हे शम्भू बाबा मेरे भोलेनाथ

मन में है कामना

और कुछ जानू ना

ज़िन्दगी भर करू

तेरी आराधना

सुख की पहचान दे

तू मुझे ज्ञान दे

प्रेम सब से करूँ ऐसा वरदान दे

तुने दिया बल निर्बल को,

अज्ञानी को ज्ञान दिया

हे शम्भू बाबा मेरे भोलेनाथ

हे शम्भू बाबा मेरे भोलेनाथ

तीनो लोक में तू ही तू

श्रद्धा सुमन मेरा मन बेलपत्री

जीवन भी अर्पण कर दूँ

हे शम्भू बाबा मेरे भोलेनाथ

14. श्री शिव भजन लिरिक्स – शंभू रे ओ शंभू रे तेरा भेद ना जाना

शंभू रे, ओ शंभू रे,

तेरा भेद ना जाना,

शंभू रे ओ शंभू रे,

तेरा भेद ना जाना,

वेदों की महिमा शंभू जाने,

वेदों की महिमा शंभू जाने,

शम्भू की महिमा वेद भी ना जाने,

शंभू रे ओ शंभू रै,

तेरा भेद ना जाना।

लंका मे लंकेश बिठाया,

खुद बैठा तू जोगी बनके,

लंका मे लंकेश बिठाया,

खुद बैठा तू जोगी बनके,

सबको तूने राजा बनाया,

खुद बैठा तू साधु बनके,

साधु रे ओ साधु रे,

तेरा भेद ना जाना,

वेदों की महिमा साधू जाने,

साधु की महिमा वेद भी ना जाने,

शंभू रे ओ शंभू रै,

तेरा भेद ना जाना।

देव असुर को अमृत देकर,

खुद पीवे तू विष का प्याला,

देव असुर को अमृत देकर,

खुद पीवे तू विष का प्याला,

तुझ जैसा ना कोई भयंकर,

ना कोई है भोला भाला,

भोले रे ओ भोले रे,

तेरा वेद ना जाना,

भोले की महिमा भोला जाने,

भोले की महिमा जाने ना कोई,

शंभू रे ओ शंभू रै,

तेरा भेद ना जाना।

शंभू रे, ओ शंभू रे,

तेरा भेद ना जाना,

शंभू रे ओ शंभू रे,

तेरा भेद ना जाना,

वेदों की महिमा शंभू जाने,

वेदों की महिमा शंभू जाने,

शम्भू की महिमा वेद भी ना जाने,

शंभू रे ओ शंभू रै,

तेरा भेद ना जाना।

15. श्री शिव भजन लिरिक्स – शिव मंदिर में दीप जला के करलो मन उजियारा

( शिव मंदिर में दीप जला के – विडियो )

शिव मंदिर में दीप जला के

करलो मन उजियारा,

भक्तो करलो मन उजियारा,

शिव चरणों में अर्पण करदो,

अपना जीवन सारा जीवन सारा,

करलो मन उजियारा…

धन तू चीज है आणि जानी मोह करो न धन का,

त्रिपुरारी की शरण में आओ चैन मिले जीवन का,

काम आये जो हर संकट में नाम वही है प्यारा,

है प्यारा भगतो शिव का नाम है प्यारा…

भोर भी होगी क्यों डरते हो दुःख की रातो से,

शिव जी तो है बड़े दयालु देंगे दोनों हाथो से,

जटा से निकली गंगा में है शीतल सुख धारा,

शिव का नाम है प्यारा…

डग मग नैया ढोल रही है पवन का तेज है बहाओ,

देख के उची उची लहरें काहे तुम गबराओ,

शिव सागर में जो में उतरा शिव ने पार उतारा,

शिव मंदिर में दीप जला के करलो मन उजियारा…

16. श्री शिव भजन लिरिक्स – आ लौट के आजा भोलेनाथ

आ लौट के आजा भोलेनाथ

तुझे माँ गौरा बुलाती है

तेरा सुना पड़ा रे कैलाश

तुझे माँ गौरा बुलाती है

आ लौट के आजा भोलेनाथ

तुझे माँ गौरा बुलाती है

अंगो पे विभूति गले में माला

पहने है शंकर भोला

तुम हो सबका पालन हार

तुझे माँ गौरा बुलाती है

आ लौट के आजा भोलेनाथ

तुझे माँ गौरा बुलाती है

माथे पे चंदा जटा में गंगा

जटा से बहती धारा

सबका करता तू बेडा पार

तुझे माँ गौरा बुलाती है

आ लौट के आजा भोलेनाथ

तुझे माँ गौरा बुलाती है

हाथो में डमरू पास में त्रिशूल

नंदी पे करता सवारी

सबका तू है पालनहार

तुझे माँ गौरा बुलाती है

आ लौट के आजा भोलेनाथ

तुझे माँ गौरा बुलाती है।

17. श्री शिव भजन लिरिक्स – फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना

फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना

नित ध्यान धरु तेरा बिगड़ी को बना जाना

तुझे अपना समझकर मै फरियाद सुनाता हु

तेरे दरपर आकर मै नित धुनी रमाता हु

क्यों भूल गये भगवन मुझे समझ के बेगाना

फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना

मेरी नाव भवर डोले तुम्ही तो खेवैया हो

जग के रखवाले तुम तुम ही तो कन्हैया हो

कर नंदी सवारी तुम भवपार लगा जाना

फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना

तुम बिन न कोई मेरा अब नाथ सहारा है

इस जीवन को मैंने तुझ पर ही वारा है

मर्जी है तेरी बाबा अच्छा नही तडपाना

फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना

नैनो में भरे आँसू क्यों तरस न खाते हो

क्या दोष हुआ मुझसे मुझे क्यों ठुकराते हो

अब मैहर करो बाबा सुन के मेरा अफसाना

फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना

18. श्री शिव भजन लिरिक्स – सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ आये है

सजा दो घर को गुलशन सा

सजा दो मन को मंदिर सा

मेरे भोलेनाथ आये है

मेरे भोलेनाथ आये है

मेरे भगवान आये हैं

मेरे सरकार आये हैं

मेरे सरकार आये हैं

मेरे सरकार आये हैं

मेरे सरकार आये हैं

मेरे सरकार आये हैं

मेरे सरकार आये हैं

मेरे सरकार आये हैं

सजा दो घर को गुलशन सा

सजा दो घर को गुलशन सा

मेरे भगवान आये हैं

सजा दो घर को गुलशन सा

मेरे सरकार आये हैं

बिछा दो अपनी पलकों को

बहाकर प्रेम की गंगा

बिछा दो अपनी पलकों को

बहाकर प्रेम की गंगा

बहाकर प्रेम की गंगा

बहाकर प्रेम की गंगा

बिछा दो अपनी पलकों को

बहाकर प्रेम की गंगा

बिछा दो अपनी पलकों को

बहाकर प्रेम की गंगा

बहाकर प्रेम की गंगा

बहाकर प्रेम की गंगा

बिछा दो अपनी पलकों को

बिछा दो अपनी पलकों को

मेरे सरकार आये हैं

बिछा दो अपनी पलकों को

मेरे सरकार आये हैं

आया तेरे दर पे दिवाना

आया तेरे दर पे दिवाना

तेरा दिवाना, तेरा दिवाना 5

आया तेरे दर पे दिवाना

आया तेरे दर पे दिवाना

लगे कुटिया भी दुल्हन सी

लगे कुटिया भी दुल्हन सी

मेरे सरकार आये हैं

लगे कुटिया भी दुल्हन सी

मेरे भोलेनाथ आये है

मेरे भोलेनाथ आये है

मेरे सरकार आये हैं

मेरे भोलेनाथ आये है

मेरे सरकार आये हैं

मेरे सरकार आये हैं

मेरे सरकार आये हैं

बिछा दो अपनी पलकों को

कहो हरदम यही सबसे

मेरे भोलेनाथ आये हैं

कहो हरदम यही सबसे

मेरे भोलेनाथ आये हैं

बिछा दो अपनी पलकों को

मेरे भोलेनाथ आये हैं

बाबा

बाबा

मेरे … भोलेनाथ ..

19. श्री शिव भजन लिरिक्स – शिवजी तेरे द्वार हम भी आयेंगे

शिवजी तेरे द्वार हम भी आयेंगे

गंगाजल से आपको हम नहलायेंगे

जनम जनम का प्यासा ये मन

तेरे शरण में ही आयेंगे हम

हम दीवाने हो गये है आपके

हर साँस में तेरे गुण गायेंगे

बोलो बोलो बम बम तेरे मिट जाये गम

दुःख दूर रहेंगे तुझसे जनम जनम

शिवजी तेरे द्वार हम भी आयेंगे

गंगाजल से आपको हम नहलायेंगे

20. श्री शिव भजन लिरिक्स – सिर पे विराजे गंगा की धार

सिर पे विराजे गंगा की धार

कहते है उनको भोलेनाथ

वही रखवाला है इस सारे जग का

हाथो में त्रिशूल लिए है गले में है सर्पो की माला

माथे पे चन्द्र सोहे अंगो पे विभूति लगाये

भक्त खड़े जयकार करे

दुखियो का सहारा है मेरा भोलेबाबा

वही रखवाला है इस सारे जग का

सिर पे विराजे गंगा की धार

कहते है उनको भोलेनाथ

वही रखवाला है इस सारे जग का

काशी में जाके विराजे देखो तीनो लोक के स्वामी

अंगो पे विभूति रमाये देखो वो है अवघडदानी

भक्त तेरा गुणगान करे

दुखियो का सहारा है मेरा भोलेबाबा

वही रखवाला है इस सारे जग का

सिर पे विराजे गंगा की धार

कहते है उनको भोलेनाथ

वही रखवाला है इस सारे जग का

21. श्री शिव भजन लिरिक्स – सब कुछ मिला रे भोले रेहमत से तेरी

ओ वो

वो ओ

सब कुछ मिला रे भोले

रेहमत से तेरी

तूने ही है सुनी इल्तजा मेरी

बन के फ़क़ीर में चलिया

राह में तेरी

तू ना मिलिया मुझको

आस है तेरी

सब कुछ मिला रे भोले

रेहमत से तेरी

तूने ही है सुनी इल्तजा मेरी

तन एक मंदिर

है रूह एक जरिया

तू ना मिलेगा चाहे

खोज लो दरिया

रेहता कहाँ पे तू

किस देश वेश में

मिलजा मुझे बस सुनले

इतनी सी फ़रियाद

ना कोई अपना है

सब है पराया

तुझसे से ही है मोहब्बत

बेइंतहा मेरी

सब कुछ मिला रे भोले

रेहमत से तेरी

तूने ही है सुनी

इल्तजा मेरी

बन के फ़क़ीर में चलिया

राह में तेरी

तू ना मिलिया मुझको

आस है तेरी

कठिन सफर में बनके

फिर रहा बंजारा

राह में कांटे है

फिर भी क्या खूब है नजारा

कठिन सफर में बनके

फिर रहा बंजारा

राह में कांटे है

फिर भी क्या खूब है नजारा

जानता है तू भोले

हर चित की चोरी

तूने है थामी मेरे जीवन

की ये डोरी

मेरी ये साँस तू है

मेरा विश्वास तू है

किस्मत की न है जरूरत

लकीरों को मेरी

सब कुछ मिला रे भोले

रेहमत से तेरी

तूने ही है सुनी इल्तजा मेरी

बन के फ़क़ीर में चलिया

राह में तेरी

तू ना मिलिया मुझको

आस है तेरी

सब कुछ मिला रे भोले

रेहमत से तेरी

तूने ही है सुनी इल्तजा मेरी

बन के फ़क़ीर में चलिया

राह में तेरी

तू ना मिलिया मुझको

आस है तेरी

22. श्री शिव भजन लिरिक्स – शिव समा रहे मुझमें

ॐ नमः शिवाय

ॐ नमः शिवाय

शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

क्रोध को, लोभ को

क्रोध को, लोभ को

मैं भष्म कर रहा हूँ

शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

ॐ नमः शिवाय

शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

ॐ नमः शिवाय

ब्रह्म मुरारी सुरार्चिता लिंगम

निर्मल भाषित शोभित लिंगम

जन्मज दुखः विनाशक लिंगम

तत् प्रनमामि सदा शिव लिंगम

ब्रह्म मुरारी सुरार्चिता लिंगम

निर्मल भाषित शोभित लिंगम

जन्मज दुखः विनाशक लिंगम

तत् प्रनमामि सदा शिव लिंगम

तेरी बनाई दुनिया में कोई

तुझसा मिला नहीं

मैं तो भटका दर बदर कोई

किनारा मिला नहीं

जितना पास तुझको पाया

उतना खुद से दूर जा रहा हूँ

शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

ॐ नमः शिवाय

शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

ॐ नमः शिवाय

मैंने खुदको खुद ही बंधा

अपनी खींची लकीरों में

मैं लिपट चूका था

इच्छा की जंजीरों में

अनंत की गहराइयों में

समय से दूर हो रहा हूँ

शिव प्राणों में उतर रहे

और मैं मुक्त हो रहा हूँ

“उठो हंसराज उठो

उठो वत्श उठो”

वो सुबह की पहली किरण में

वो कस्तूरी बन के हिरन में

मेघों में गरजे, गूंजे गगन में

रमता जोगी रमता मगन में

वो ही आयु में

वो ही वायु में

वो ही जिस्म में

वो ही रूह में

वो ही छाया में

वो ही धुप में

वो ही हर एक रूप में

ओ भोले

ओ…

क्रोध को, लोभ को

क्रोध को, लोभ को

मैं भष्म कर रहा हूँ

शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

ॐ नमः शिवाय

शिव समा रहे मुझमें

और मैं शुन्य हो रहा हूँ

ॐ नमः शिवाय

23. श्री शिव भजन लिरिक्स – शिव शक्ति से ही पूर्ण है

शिव शक्ति से ही पूर्ण है

शक्ति के वो सिंधुर है

गौरी के गौरव के लिए

जो हो रहे अब दूर है

शिव शक्ति से ही पूर्ण है

शक्ति के वो सिंधुर है

गौरी के गौरव के लिए

जो हो रहे अब दूर है

कोई तोड़ ना है बिछोह का

नाही मोल मन के मोह का

कोई तोड़ ना है बिछोह का

नाही मोल मन के मोह का

शिव जाने क्या है काली का

अस्तित्व आदीशक्ति का

विचलित करे ना भावना

नाही दे सके कोई सांत्वना

नियती है बंधन से परे

जो रच दीया सो वो करे

शिव शक्ति से ही पूर्ण है

शक्ति के वो सिंधुर है

गौरी के गौरव के लिए

जो हो रहै अब दूर है

आ…

कैलाश की गृह स्वामिनी

शिव की हूँ मैं अर्धांगिनी

निर्माण मेरे अस्तित्व का

खंडन ना हो दायित्व का

अब ना कोई अवरोध हो

अब मेरे मन का बोध हो

महाकाल की महाकालिका

परमेश्वरी पथपालिका

अब तक स्वयं से दुर है

यही शक्ति तो सम्पूर्ण है

यही शक्ति तो सम्पूर्ण है

यही शक्ति तो सम्पूर्ण है

यही शक्ति तो सम्पूर्ण है

24. श्री शिव भजन लिरिक्स – शिव का नाम लो

शिव का नाम लो

शिव का नाम लो

हर संकट में ॐ नमो शिवाय

बस ये नाम जपो

शिव का नाम लो

जय शम्भु कहो

जय शम्भु कहो

जब कोई मुश्किल आन पड़े तो

भोले नाथ रटो

शिव का नाम लो

शिव ही पालन हारा है

शिव ही पालन हारा है

सब का वो रखवाला है

सब का वो रखवाला है

शिव ही पालन हारा है

शिव ही पालन हारा है

सब का वो रखवाला है

सब का वो रखवाला है

हर हर गंगे, हर हर गंगे

हर हर गंगे, बम बम भोले

शिव के चरणों में है चारो धाम

चारो धाम

देवों में भी शिव जी हैं प्रधान

हैं प्रधान

सब का बस वो ही एक स्वामी है

दान जिसका है धरम, ऐसा दानी है

जग का है वो पिता,

जग का है वो पिता

ओ..

इतना जान लो

(शिव का नाम लो)

जय शम्भु कहो

जय शम्भु कहो

जब कोई मुश्किल आन पड़े तो

भोले नाथ रटो

शिव का नाम लो

जय शिव शंकर, भवानी शंकर, जय नटराजन

जय शिव शंकर, भवानी शंकर, जय नटराजन

जय शिव शंकर, भवानी शंकर, जय नटराजन

जय शिव शंकर, भवानी शंकर, जय नटराजन

शिव की महिमा सब से है महान

है महान

प्रेम दया का दूजा है ये नाम

है ये नाम

विष अमृत मान कर पी लिया जिसने

हर प्राणी का कल्याण किया जिसने

द्वारे पे शिव खड़े

द्वारे पे शिव खड़े

हो…

तुम पहचान लो

शिव का नाम लो

शिव का नाम लो

शिव का नाम लो

हर संकट में ॐ नमो शिवाय

बस ये नाम जपो

शिव का नाम लो

जय शम्भु कहो

जय शम्भु कहो

जब कोई मुश्किल आन पड़े तो

भोले नाथ रटो

शिव का नाम लो

शिव का नाम लो

शिव का नाम लो

शिव का नाम लो

शिव का नाम लो

 

दोस्तों अब हम श्री शिव जी के भजन को क्रमवार लिस्ट के रूप में आप लोगों के लिए प्रस्तुत कर रहे हैं। प्रत्येक भजन का पूरा आर्टिकल लिखने पर यह लेख बहुत बड़ा हो जाएगा, इसलिए हमने नीचे क्रमवार रखे हैं। आप अपने पसंद का भजन को क्लिक करके पूरा पढ़ सकते हैं

25. कभी शिवजी के मंदिर गया ही नहीं

 

26. मैं तो शिव की पुजारन बनूँगी

 

27. मिलता है सच्चा सुख केवल शिवजी तुम्हारे चरणों में

 

28. आ लौट के आजा भोलेनाथ

 

29. ऐसा डमरू बजाया भोलेनाथ ने

 

30. श्री शिव तांडव स्तोत्र व इसके चमत्कारिक फायदे

 

दोस्तों श्री शिव जी के लोकप्रिय भजन पर हमारी शोध एवं लेखन कार्य जारी है। अतिशीघ्र यहां पर आपको और भजन पढ़ने को मिलेगा। आपको श्री शिव जी का कौन सा भजन ज्यादा अच्छा लगता है, जरूर बताइएगा।

दोस्तों आज के लेख में हमने श्री शिव जी के लोकप्रिय भजनों का लिरिक्स तथा विडियो का आनंद लिया। आप अपनी राय या सुझाव हमें कामेंट बाक्स में बता सकते हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *